SHIV SAMA RAHE LYRICS » HANSRAJ RAGHUWANSHI » Lyrics Over A2z

Rate this Lyrics

 SHIV SAMA RAHE LYRICS » HANSRAJ RAGHUWANSHI

SHIV SAMA RAHE LYRICS » HANSRAJ RAGHUWANSHI: The Shiv Sama Rahe Lyrics
Shiv Sama Rahe Song Lyrics by Hansraj Raghuwanshi is the Latest Song of Him
(Album Song). The 
Shiv Sama Rahe Song is Sung by Hansraj Raghuwanshi. The Shiv Sama Rahe Song Music is Given by Ricky T GiftRulers. The Shiv Sama Rahe Song Lyrics is written by Suman Thakur. The Shiv Sama Rahe Song is Released on 2nd January 2020. The Shiv Sama Rahe Song is Presented by Hansraj Raghuwanshi.


SHIV SAMA RAHE LYRICS » HANSRAJ RAGHUWANSHI » Lyrics Over A2z


Song Title: Shiv Sama Rahe

Singer: Hansraj Raghuwanshi

Lyrics: Suman Thakur

Music: Ricky T GiftRulers

Producer: Bholenath

Label: Hansraj Raghuwanshi




SHIV SAMA RAHE LYRICS » HANSRAJ RAGHUWANSHI

ॐ नमः शिवाय

ॐ नमः शिवाय


 

शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ


शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ


Trending Now →  SHIV MEIN MILNA HAI LYRICS » Hansraj Raghuwanshi

 क्रोध को, लोभ को

क्रोध को, लोभ को


मैं भष्म कर रहा हूँ



 शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ


ॐ नमः शिवाय


शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ


ॐ नमः शिवाय


 

ब्रह्म मुरारी सुरार्चिता लिंगम

निर्मल भाषित शोभित लिंगम

जन्मज दुखः विनाशक लिंगम

तत् प्रनमामि सदा शिव लिंगम


 ब्रह्म मुरारी सुरार्चिता लिंगम

निर्मल भाषित शोभित लिंगम

जन्मज दुखः विनाशक लिंगम

तत् प्रनमामि सदा शिव लिंगम


 तेरी बनाई दुनिया में 

कोई तुझसा मिला नहीं


मैं तो भटका दर बदर 

कोई किनारा मिला नहीं


जितना पास तुझको पाया

उतना खुद से दूर जा रहा हूँ


 शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ


ॐ नमः शिवाय


शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ

Trending Now →  होखी सहईया हे छठी मईया Lyrics » Pawan Singh & Khushboo Jain


ॐ नमः शिवाय


 

मैंने खुदको खुद ही बंधा

अपनी खींची लकीरों में

मैं लिपट चूका था

इच्छा की जंजीरों में


 अनंत की गहराइयों में

समय से दूर हो रहा हूँ

शिव प्राणों में उतर रहे

और मैं मुक्त हो रहा हूँ


 


“उठो हंसराज उठो

उठो वत्श उठो”


 


वो सुबह की पहली किरण में

वो कस्तूरी बन के हिरन में

मेघों में गरजे, गूंजे गगन में

रमता जोगी रमता मगन में


 वो ही आयु में

वो ही वायु में

वो ही जिस्म में

वो ही रूह में

वो ही छाया में

वो ही धुप में

वो ही हर एक रूप में



 ओ भोले

ओ…


 

क्रोध को, लोभ को

क्रोध को, लोभ को

मैं भष्म कर रहा हूँ


 शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ

Trending Now →  JAB JAB NAVRATRE AAVE LYRICS » SHREYA GHOSHAL » Lyrics Over A2z

ॐ नमः शिवाय


शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ

ॐ नमः शिवाय

(LyricsOverA2z.com Copyright @2021 – 2022)

SHIV SAMA RAHE LYRICS » HANSRAJ RAGHUWANSHI

SHIV SAMA RAHE LYRICS » HANSRAJ RAGHUWANSHI Official Song Video



__________________________________________




 If you can not find any
lyrics,


 then Please Go to our Request Page which
appears on the Heading Tabs. After You Go, there is
a
 Form open.



Just Fill Out The Form and Send Us.


In 24 hours Your Lyrics on Demand, We’ll post on our
Website.



https://lyricsovera2z.com/



Now Enjoy Our Fresh Lyrics “.


Thank You.


__________________________________________



I Hope You Enjoyed these Beautiful Lyrics. Don’t
Forget to Share This with Your Friends.


Share This Lyrics :